How to Increase Cibil Score ? क्रेडिट स्कोर क्या होता है और इसे कैसे बढाये ? जानिए सिर्फ 2 मिनिट मे- Cibil score kaise badhaye ?

How to Increase Cibil Score ? क्रेडिट स्कोर क्या होता है और इसे कैसे बढाये ? जानिए सिर्फ 2 मिनिट मे- Cibil score kaise badhaye ?

Personal Loans

How to Increase Cibil Score ? क्रेडिट स्कोर क्या होता है और इसे कैसे बढाये ? जानिए सिर्फ 2 मिनिट मे- Cibil score kaise badhaye ?

दोस्तो, आज के Digital युगमे अगर आप किसी भी बेंक या कोई भी application से अगर लोन के लिए form के रूप मे आवेदन करते है या Online apply करते है तब बैंक सबसे पहेले आपका क्रेडिट स्कोर (Cibil Score) चेक करते है। आपका क्रेडिट स्कोर निर्धारित करता है कि आपको कितना लोन मिलना चाहिए और ब्याज की दर क्या होगी। इसके साथ ही आपकी क्रेडिट हिस्ट्री लोन के आपके आवेदन की मंजूरी में भी बड़ी भूमिका निभाती है। आइये दोस्तो आज की इस पोस्ट मे हम जानेंगे की क्रेडिट स्कोर क्या होता है? क्रेडिट स्कोर को कैसे चेक करे और उसे कैसे बढ़ाए और लोन के लिए क्रेडिट सकोरे कितना होना चाहिए (How to increase cibil score?).

दोस्तो, सबसे पहेल जानते है की ये क्रेडिट स्कोर होता क्या है?

सिबिल स्कोर क्या है? (What is CIBIL Score ?)

Credit Score – क्रेडिट स्कोर सिबिल स्कोर(CIBIL Score) भी कहा जाता है। CIBIL का Full form होता है। Credit Information Bureau of India Limited. सिबिल रिपोर्ट ट्रांसयूनियन सिबिल लिमिटेड (पहले: क्रेडिट इन्फॉर्मेशन ब्यूरो (इंडिया) लिमिटेड) कंपनी से जारी होती है। इसे सिबिल कंपनी भी कहते हैं। क्रेडिट स्कोर 3 अंको की एक संख्या होती है, जिसके हिसाब से बिजनेस लोन देने या नहीं देने का निर्णय किया जाता है।

क्रेडिट स्कोर या सीबील स्कोर के आधार पर ही आपकी लोन की amount याने के राशि approval  होती है इसलिए लोन लेनेमे आवेदन कर्ता का क्रेडिट स्कोर काफी अहम रखता है।पैन नंबर के जरिए क्रेडिट स्कोर का पता किया जाता है।

ये score को calculate किया जाता है आपके credit report के basis पर जिसमें की आपकी credit history होती है। जितनी ज्यादा आपकी credit score होगी उतनी ही अच्छी आपकी credit history मानी जाएगी. क्रेडिट स्कोर एक तरीके से आपके लोन को लौटाने की योग्यता को दर्शाता है। (How to increase cibil score?)

क्रेडिट स्कोर संस्था सिबिल के अनुसार, क्रेडिट स्कोर की रेंज 300-900 के बीच हो सकती है और जिन लोगों का स्कोर 750 या उससे अधिक होता है, उन्हें जल्द और आसानी से लोन मिल सकता है. क्रेडिट स्कोर का सीधा असर आपकी वित्तीय सेहत पर पड़ता है.

अच्छे क्रेडिट स्कोर का मतलब है कि आपके पास रकम डूबने का जोखिम कम है. खराब क्रेडिट स्कोर का अर्थ है कि आपके कर्ज चुकाने को लेकर संदेह हो सकता है. इसलिए जानिए वो तरीके, जिससे आप आपने क्रेडिट स्कोर शानदार बनाए रख सकते हैं।

Loan ke liye credit score kitna hona chahiye - How to increase cibil score?

  •  Alsor Readएक बढ़िया सिबिल स्कोर कितना होना चाहिए? Loan ke liye credit score kitna hona chahiye?

दोस्तो, क्रेडिट स्कोर संस्था सिबिल के अनुसार, क्रेडिट स्कोर की रेंज 300-900 के बीच हो सकती है, कुछ लोगों के लिए ये 300 से नीचे भी जा सकता है वहीँ 900 से ऊपर कभी नहीं जायेगा। क्रेडिट स्कोर का सीधा असर आपकी वित्तीय सेहत पर पड़ता है। एक बढ़िया क्रेडिट स्कोर का मतलब है कि आपके पास रकम डूबने का जोखिम कम है।

लेकिन दोस्तो एक बात को आको ध्यान मे रखान है की बस credit score को check कर देना काफी नहीं होता है, आपको अपने report में हो रहे ups और downs को monitor भी करना होता है, क्यूंकि credit agencies, banks और financial institutions प्रति माह इन reports को renew करती हैं.

How to Increase cibil score ? (सिबिल या क्रेडिट स्कोर को कैसे बढाये ?)

दोस्तो, अब हमने ऊपर बतया गए स्टेप से अपना क्रेडिट स्कोर को चेक कर लिया आगे वो बढ़िया है तो ठीक है अगर 300 से कम है तो उसे हमे बढ़ाना यानि के उसमे सुधार लाना पड़ेगा, उसके बाद हमको बेंक मे लोन केलिए apply करना चाहिए, वरना हमे लोन कम या ना भी मिले। इसलिये आइये अब जानते है की हमारे क्रेडिट या सीबील स्कोर को कैसे बढ़ाए?(How to increase cibil score?)

क्रेडिट स्कोर बढ़ाने के लिए निम्नलिखित स्टेप फॉलो करेः How to increase cibil score from 300 to 750 ?

1) Pay EMI On time (समय पर जमा करें EMI)

दोस्तो, आपका सिबिल स्कोर इस बात पर डिपेंड करता है कि, आप समय पर भुगतान करते हैं या नहीं। यदि आप समय पर भुगतान नहीं करते हैं, इस तरह की खराब रिपोर्ट से आपका सिबिल स्कोर गिरने लगता है। यही वजह है कि, कंपनियां सही समय पर भुगतान करने की सलाह देती है। लेकिन लोग इसे अनदेखा कर देते हैं और सिबिल स्कोर खराब कर लेते हैं जिसके कारण उन्हें दोबारा लोन लेने में मुश्किल होती है। हमेशा वर्तमान लोन की EMI का भुगतान तय समय पर करें। Remainders Set करें उन्हें समय में repay करने के लिए।

2) Pay your credit card bill on time (क्रेडिट कार्ड का बिल समय पर भर दे)

हर महीने आपको क्रेडिट कार्ड के बिल का Payment करना चाहिए। यदि आप ऐसा करते हैं तो लोन देने वाली कंपनी भी इस बात का खास ख्याल रखती है कि आप एक जिम्मेदार उधारकर्ता है। यदि आप पूरी जिम्मेदारी से क्रेडिट कार्ड बिल का पूरा समय प्रर करते हैं तो इससे आपके क्रेडिट स्कोर में सुधार होता है। यदि आपका क्रेडिट बिल अधिक हो गया है तो आप एक न्यूनतम राशि तय करें और उसके अनुसार जल्द से जल्द इस बिल का भुगतान करने की कोशिश करें।

3) Build a good credit history : जिम्मेदारी से ले कर्ज़

किसी भी कंपनी से लोन या कर्ज लेते समय उतना ही उधार ले जितना आप वापस उसे चुका सकते हैं। ऐसा करने से आपके ऊपर ज्यादा भार नहीं रहेगा और आप आसानी से अपनी किस्तें चुका पाएंगे। जब आप पहली बार किसी कंपनी से लोन लेते हैं तो बैंक या कोई भी लोन संस्थान इस बात को समझती है कि आप एक जिम्मेदार उधारकर्ता है, इसीलिए पहली बार में आसानी से लोन दे देती है।

लेकिन आप समय पर भुगतान नहीं करते तो इसकी वजह से आपका सिबिल स्कोर खराब होने लगता है, आपकी लोन लेने केलिये Credit history पे इसकी असर पडती है. ऐसे में आप कोशिश करें कि, जरूरत के अनुसार ही लोन ले और समय पर इसका भुगतान करें।

4) One time One loan : एक समय मे एक लोन

दोस्तो, आप्को एक समय में multiple loans नहि लेंनी चाहिये, इसलिये आप्को पहले वाले loan को पुरी repay करने के बाद ही कोई दूसरा loan लें. इससे आपके credit score पर अच्छा असर पड़ता है.

5) Maintain Credit rating : क्रेडिट की रेटिंग खराब ना होने दे

दोस्तो, आपको अनसिक्योर्ड या असुरक्षित लोन जैसे के क्रेडिट  कार्ड्स, बिजनेस लोन और पर्सनल लोन इत्यादि कभी नहि लेना चाहिए। यदि आप एक से अधिक अनसिक्योर्ड लोन लेते हैं तो इससे आपके सिबिल क्रेडिट की रेटिंग खराब होती है। इसलिए आप एक समय में दो अनसिक्योर्ड लोन लेने से बचें और एक समय में केवल एक ही लोन लेने की कोशिश करें, ताकि आपका सिबिल स्कोर अच्छा दिखे।

6) Take loan for long time : लम्बे अवधि का चुनाव करे

जब भी कभी loan लें, तब उसे चुकाने की अवधि को लम्बी रखें. ऐसा करने से आपकी EMI भी कम होगी और आप उसे समय पर चूका भी सकते हैं. वहीँ इससे आप कभी भी defaulter list में नहीं आयेंगे और आपकी score improve भी होंगी.

7) Don’t increase credit limit : क्रेडिट की मर्यादा को ना बढाये

अगर कभी आपका bank आपके credit limit को बढ़ाने की बात कर रहा है, तब कभी भी माना ना करे, क्यूंकि credit limit के बढ़ने से आपकी खर्चे करने में बढ़ोतरी नहीं होती है लेकिन यदि आपकी बड़ी credit limit हो और आप बहुत ही कम उसका इस्तमाल कर रहे हैं तब इससे आपका credit score जरुर से बेहतर हो जाता है.

दोस्तो, Credit Score को improve होने मे करीब 4 – 8 महीने तक लग जाते हैं, ये पूरी तरह से किसी individual के situation के ऊपर निर्भर करता है. आपको बस smart, patient और disciplined बनाए रखने की जरुरत है।

दोस्तो मुझे आशा है की इस Tutorial मैंने आपको क्रेडिट स्कोर क्या होता है? क्रेडिट स्कोर को कैसे बढ़ाए   बारे मे पूरी जानकारी दी है और आशा करता हु की आप को “How to increase cibil score ?” इनके बारेमे समझ आ गया होगा।

यदि अभी आपके मन मे इसको लेकर कोई भी doubts है, या आप चाहते है की इसमे कुछ सुधार की जरूरत है तो  आपा नीचे comments मे लिख सकते है। आपके इस सुजावसे हमे कुछ और सीखने और कुछ सुधार का मौका मिलेगा। यदि आपको हमारे यह पोस्ट “ How to increase cibil score ?” अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सीखने को मिला हो तो, अपनी प्रसनता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Media जैसे की Facebook, Twitter, Instagram और Whatsapp इत्यादिक पर Share जरूर कीजिए। धन्यवाद।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published.